समर्थक

गुरुवार, 24 अक्तूबर 2013

विवशता

12 August 2013 at 14:40
विवश हर कोई है
जग में No automatic alt text available.अनेको
बन्धनों के हेतु
तरसता हर ह्रदय
हो प्यार, मिले
कोई मधुर सेतु ..........Image may contain: 5 people

1 टिप्पणी: